UNI-LEVEL मार्केटिंग प्लान के बारे में

इस प्लान का सबसे बड़ा फायदा यही है की हर डिस्ट्रीब्यूटर को एक जैसा कमीशन मिलता है मतलब सबका परसेंट एक जैसा होगा | इस प्लान में जुड़ने वाला हर व्यक्ति चाहे फिर वो ऊपर हो या फिर नीचे हो डिस्ट्रीब्यूटर होता है और सबको परफॉरमेंस के आधार पर आंका जाता है इसमें कोई रैंक नहीं होती है | इस तरह के प्लान में सिर्फ एक ही कमीशन का प्रकार होता है और वो है लेवल कमीशन | सामान्यतया आपकी नीचे वालो की सेल का 5% आपको मिलता है | 

इस प्लान के अंतर्गत जितना बड़ा नेटवर्क आप बनाना चाहते है बना सकते है | बस इसकी गहराई लिमिटेड है | 4 लेवल की गहराई तक आप इसमें काम कर सकते है इसके बाद ये फेलता जाता है | ज्यादा फैलाव होने की वजह से नए आने वाले डिस्ट्रीब्यूटर अपना ध्यान खो देते है 

हाँ  इस प्लान की एक अच्छी बात ये है की इसको आप अपने प्रोस्पेक्टस को अच्छे से समझा सकते है | आजकल आप इस तरह के प्लान शायद ही देख पाए क्योंकि ये पहले बहुत बड़े लेवल पर इस्तमाल किये जाते थे पर अब इसको बाकि प्लान के साथ मिक्स करके इस्तेमाल किया जाता है इसलिए इसको हाइब्रिड प्लान भी कहा जाता है 

एक उनिलेवेल प्लान के अन्दर जिन चीजों को लाया गया है वो है …

  • Fast Start Commission
  • Pool Bonuses
  • Infinity Commissions

एक बार इस प्लान का हाइब्रिड हो जाने के बाद इसको समझाना थोडा मुश्किल हो जाता है एक व्यक्ति का दुसरे को समझाना | यही वो स्टेज होती है जहां पर बहुत सारे डिस्ट्रीब्यूटर गिर जाते है | इसी तरह से इस तरह के प्लान में ये पता नहीं लग पाटा की कंपनी आपको किस तरह से पे कर रही है मतलब वो आपको कमीशन भी दे सकती है गिफ्ट्स भी दे सकती है या फिर और कुछ भी | 

Fast Start Commission

इस तरह के कमीशन उस नए डिस्ट्रीब्यूटर को मिलता है जो किसी भी प्लान के साथ जुड़ने के साथ ही कुछ ही महीनो में प्रोडक्ट को अच्छे से बेचना शुरू कर देता है | या तो फिर आपके नीचे किसी नए रेक्रुइटर के आने पर मिलने वाला कमीशन | 

उदहारण के तौर पर घर पर काम आने वाले प्रोडक्ट्स या फिर हेल्थ से सम्बन्ध रखने वाले प्रोडक्ट्स जो की किसी नए रेक्रुटर के द्वारा कुछ ही महीनो में अच्छे से बेचे गए जाए और उसका कमीशन उसके ऊपर वालो को मिलता चलता है | 

और दूसरी तरह सब्सक्रिप्शन बेस्ड प्रोडक्ट्स जिनका कमीशन एक बार ही होता है | फ़ास्ट कमीशन का मकसद डिस्ट्रीब्यूटर को पहली सेल पर बड़ा कमीशन और किसी नए जोइनिंग पर बड़ा कमीशन देना होता है | अगर आप बेचने में सक्षम है तो इस तरह से आप बहुत अच्छा कमीशन बना सकते है और अगर नहीं है तो आप पीछे भी रह सकते है |

Pool Bonuses

इस तरह के भाग में कंपनी पैसो का पूल बनती है और उस पैसे को उन कुछ ही डिस्ट्रीब्यूटर में बाँट देती है जो की अच्छा काम कर रहे है | और ये पूल बोनस के नाम से जाना जाता है | अगर लेवल कमीशन को देखा जाये तो पूल बोनस उसके मुकाबले बहुत ही कम होता है | 

उदाहरन के तौर पर किसी भी प्रोडक्ट की महीने की सेल का 1% हो सकता है और वो 1% अच्छे क्वालीफाइंग डिस्ट्रीब्यूटर में बाँट दिया जाता है | और ये वो लोग होते है जो बहुत बड़ी रैंक के साथ उपरी लेवल पर होते है | 

Infinity Commissions

इस तरह के प्लान में एक डिस्ट्रीब्यूटर को तक तक कमीशन मिलता रहता है जब तक कोई डिस्ट्रीब्यूटर किसी दुसरे डिस्ट्रीब्यूटर के अंतर्गत काम करता रहे और जिस लेवल पर उसका डिस्ट्रीब्यूटर है वो भी उसी लेवल तक न पहुँच जाए | 

तो हमने आज  उनिलेवेल नेटवर्क मार्केटिंग के बारे में देखा, इस तरह का नेटवर्क मार्केटिंग प्लान बाज़ार में चलन में है भी और नहीं भी | इस तरह के स्ट्रक्चर के सेल पर ध्यान जादा दिया जाता है मतलब इसको एक कांसुमर टाइप प्लान कहा जा सकता है |

अगर आप कुछ कहना चाहते है तो कमेंट कर सकते है, अच्छा बुरा जो भी, मुझे अच्छा लगेगा |

Leave a Reply